Sankat Mochan Hanuman Ashtak in Hindi – Benefits & Lyrics

CHALISA

श्री हनुमंत लाल की पूजा आराधना में हनुमान चालीसा , बजरंग बाण और संकटमोचन अष्टक का पाठ बहुत ही प्रमुख माने जाते हैं। संकट मोचन हनुमान अष्टक का नियमित पाठ करने से भक्तों पर आये गंभीर संकट का भी निवारण हो जाता है। संकट मोचन हनुमानाष्टक दुश्मनों से बाधाओं, खतरों, और परेशानी को दूर करने के क्रम में पूरे भारत में हनुमान जी के भक्तों द्वारा जपि जाती हैं ! संकट मोचन हनुमानाष्टक का सस्वर पाठ ग्रहों, विशेष रूप से शनि और मंगल ग्रह के बुरे प्रभाव से मदद करता है ! यह प्रार्थना ज्य़ादातर शनिवार और मंगलवार (शनि और मंगल ग्रह की साप्ताहिक दिन) को हनुमान मंदिरों में जपि जाती है ! We are providing sankat mochan hanuman ashtak lyrics in hindi.

Sankat Mochan Hanuman Ashtak in Hindi

संकटमोचनहनुमानाष्टक

बाल समय रवि भक्षी लियो तब , तीनहुं लोक भयो अंधियारों |

ताहि सों त्रास भयो जग को , यह संकट काहु सों जात न टारो |

देवन आनि करी विनती तब , छाड़ी दियो रवि कष्ट निवारो |

को नहिं जानत है जग में कपि , संकटमोचन नाम तिहारो || १ ||

बालि की त्रास कपीस बसै गिरि , जात महाप्रभु पंथ निहारो |

चौंकि महामुनि साप दियो तब , चाहिए कौन विचार विचारो |

कैद्विज रूप लिवाय महाप्रभु , सो तुम दास के सोक निवारो || २ ||

अंगद के संग लेन गये सिय , खोज कपीस यह बैन उचारो |

जीवत ना बचीहौ हम सो जु , बिना सुधि लाये इहाँ पगु धारो |

हेरी थके तट सिंधु सबे तब , लाये सिया – सुधि प्राण उबारो || ३ ||

रावण त्रास दई सिय को सब , राक्षसी सों कही सोक निवारो |

ताहि  समय हनुमान महाप्रभु , जाय महा रजनीचर मारो |

चाहत सीय असोक सों आगि सु , दे प्रभु मुद्रिका सोक निवारो || ४ ||

बान लाग्यो उर लछिमन के तब , प्राण तजे सुत रावन मारो |

लै गृह वैध सुषेन समेत , तबै गिरि द्रोंण सु बीर उपारो |

आनि संजीवन हाथ दिए तब , लछिमन के तुम प्रान उबारो || ५ ||

रावन जुध अजान कियो तब , नाग कि फांस सबै सिर डारो |

श्रीरघुनाथ समेत सबै दल , मोह भयो यह संकट भारो |

आनि खगेस तबै हनुमान जु , बंधन काटि सुत्रास निवारो || ६ ||

बंधु समेत जबै अहिरावन , लै रघुनाथ पताल सिधारो |

देबिन्ही पूजि भली  विधि सों बलि , देउ सबै मिलि मन्त्र विचारौ |

जाये सहाय भयो तब ही , अहिरावन सैन्य समेत संहारो || ७ ||

काज किये बड़ देवन के तुम , बीर महाप्रभु देखि बिचारो |

कौन सो संकट मोर गरीब को , जो तुम सो नहिं जात है टारो |

बेगि हरो हनुमान महाप्रभु , जो कछु संकट होए हमारो || ८ ||

दोहा

लाल देह लाली लसे , अरु धरि लाल लंगूर |

वज्र देह दानव दलन , जय जय जय कपि सूर ||

Click here to Download Sankat Mochan Hanuman Ashtak pdf

HARIHARAN SANKAT MOCHAN HANUMAN ASHTAK VIDEO

हनुमानाष्टक के लाभ (benefits)

बच्चों और परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य के लिए !

शैक्षिक मामलों में सफलता !

भगवान हनुमान की आप और आपके परिवार के सदस्यों पर कृपा होना !

भगवान हनुमान भविष्य में सब खतरों, रोगों और बदकिस्मती से बचाते है !

अदालत में और व्यापार में सफलता !

Some Other Life-Changing Chalisa

CLICK BELOW

  1. Shri Ram Chalisa in Hindi – Benefits & Lyrics
  2. Shri shiv Chalisa in Hindi – Benefits & Lyrics
  3. Shri Shani dev Chalisa in Hindi – Benefits & Lyrics
  4. Solah Somvar Vrat Katha in Hindi – Benefits & Lyrics
  5. Somvar Vrat Katha in Hindi – Benefits & Lyrics