हिंदी के हिसाब से Web Page का पूरा अर्थ जानें वो भी गहराई से

हिंदी के हिसाब से Web Page का पूरा अर्थ जानें | वो भी गहराई से

Full Form in Hindi

आइए जानते हैं हिंदी के हिसाब से Web Page का पूरा अर्थ What Is The Meaning of Web Page In Hindi. Web Page की पूरी हिंदी जानकारी के लिए बनी रहे हमारे साथ।

Also Read-Stotra in Hindi (Stotram Lyrics,हिंदी अनुवाद)

बता दें कि जालपृष्ठ या वेबपेज (webpage) एक तरह का पन्ना या दस्तावेज होता है, जिसे इंटरनेट के जरिए हम बहुत ही सरलता से देख सकते हैं। इस तरह के वेब पन्नों में वेब कड़ियों का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे उसी वेबसाइट के अन्य पन्नों या किसी दूसरे वेबसाइट में भी जाया जा सकता है।

Also Read-Desi Aayurvedic Gharelu Nuskhe in Hindi घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे हिंदी

इसे हम इस प्रकार समझ सकते हैं कि वेब पेज किताब के पन्नो की तरह ही होता है जो इन्टरनेट पर उपलब्ध होती है. वेब पेज एक html code में लिखा गया डॉक्यूमेंट होता है जिसे हम इन्टरनेट ब्राउज़र की मदद से इन्टरनेट का इस्तेमाल कर उसे पढ़ सकते हैं. एक वेब पेज में कम से कम text, graphic, hyperlink आदि होते हैं जो अन्य फाइल तथा वेब पेज को जोड़ते हैं.

Also Read-MY LIFESTYLE

ध्यान रहे कि एक वेब पेज मे एक यूआरएल अवश्य होता है। वेब पेज मे हाइपर लिंक भी हो सकता है, उसमे टेक्स्ट होता है, ग्राफिक्स होता है। आडियो भी हो सकता है, वीडिओ भी हो सकता है एवं छवियां (इमेज) भी हो सकती हैं। एक वेब पेज इंटरनेट पर एकल रूप से बनाया गया एक पेज भी होता है।

Also Read-ADCA Full Form in Hindi What is the Full Form of ADCA

Chrome Browser में वेबपेज को डाउनलोड कैसे करें

  • Step: #1 Chrome Browser को Open कीजिए.
  • Step: #2 Webpage Open कीजिए.
  • Step: #3 Chrome Menu पर क्लिक कीजिए.
  • Step: #4 More tools > Save page as… पर क्लिक कीजिए.
  • Step: #5 Download Location को निश्चित कीजिए.
  • Step: #6 तथा Save कीजिए.

Also Read-DHARM SANSAR

एक वेबपेज को बनाना बहुत ही सरल होता है आप स्वयं अपने लिए एक वेबपेज बना सकते हैं. एक वेबपेज को बनाने के लिए आपको HTML, Web Browser एवं एक Text Editor जैसे, Notepad की आवश्यकता पडेगी और एक सामान्य Computer में वेब ब्राउजर तथा एक Text Editor तो Install रहते हैं एवं HTML Coding आपको सीखनी भी पडती है.

सबसे पहला वेब पेज 6 अगस्त सन 1991 को Tim Berners-Lee द्वारा CERN में बनाया गया था। आप http://info.cern.ch/ पते पर पहली वेबसाइट एवं पहले वेब पेज पर जाकर ब्राउज़ भी कर सकते हैं।

Web page के 2 Types होते है 

Static Webpage

ऐसा web page जिसमे कोई भी changes अर्थात बदलाव नही किया जा सकता और जो सदैव एक जैसा ही रहता है उसे static webpage कहते हैं इसे flat एवं stationary page भी कहते हैं इसे website में newpaper तथा magzine article की तरह भी बोल सकते हैं क्योंकि newspaper में जो news रहती है उसे आप सिर्फ पढ़ ही सकते हैं.

उसमें किसी भी प्रकार का कोई change अर्थात modification बिल्कुल भी नही कर सकते हैं ठीक उसी तरह static webpage में ही users इनको सिर्फ पढ़ सकता है और इनमें किसी भी तरह का कोई भी बदलाव नही कर सकता, ऐसे web page सिर्फ html language के द्वारा ही बनाये जाते हैं और ये पूर्ण रूप से static होते हैं मतलब इनमें कभी भी कोई भी change बिल्कुल भी नही होता है।

Dynamic Webpage

Dyanmic Webpage ऐसे वेबपेज होते हैं जिनमे बदलाव भी किया जा सकता है ये static webpage के एक दम विपरीत रहता है dynamic webpage में user के द्वारा modification मतलब changes किये जा सकते हैं किसी भी webpage को dynamic बनाने के लिए scripting languages का इस्तेमाल किया जाता है।