pushya nakshatra love health career success family life hellozindgi.com

Pushya Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

Nakshatra
Table of Contents Hide Table

Pushya  Nakshatra Meaning in Hindi,

वैदिक ज्योतिष में 27 नक्षत्रों में से पुष्य  नक्षत्र आठवें नंबर पर आता है यहाँ हम मुख्य पौराणिक कथाओं के आधार पर पुष्य नक्षत्र में पैदा हुए  लोगों के जीवन के विषय में बात करेंगे .  पुष्य नक्षत्र के अधिष्ठाता देवता बृहस्पति जी हैं. राशि स्वामी चंद्रमा हैं तथा, स्वामी ग्रह शनि हैं.

27 नक्षत्रों में से पुष्य सबसे प्रिय नक्षत्र माना जाता है क्योंकि यह दो दिग्गजों द्वारा शासित है – विस्तार का ग्रह बृहस्पति और कर्म का ग्रह शनि . इसलिए, आध्यात्मिक गतिविधियों को करने के लिए यह सबसे अनुकूल नक्षत्र है. बृहस्पति देवताओं को सलाह देने के लिए जाने जाते हैं. वह देवताओं के सलाहकार हैं. इसी के साथ वह शासन के राजनीति विज्ञान एवं अर्थशास्त्र दोनों का ही संचालन करते हैं. पुष्य नक्षत्र पोषण का तारा है. यह नक्षत्र कमल से भी जुड़ा है, जो शुद्ध ज्ञान का प्रतीक माना जाता है.

पुष्य नक्षत्र का शाब्दिक अर्थ है – पोषण करने वाला तथा ऊर्जा एवं शक्ति देने वाला. कुछ विद्वानों के अनुसार इसे सुंदर पुष्प की संज्ञा देना उचित होता है. इस नक्षत्र को महानक्षत्र और अत्यंत शुभ नक्षत्र माना जाता है. इस नक्षत्र में विवाह को छोड़कर प्रत्येक कार्य की शुरुआत करना अत्यंत शुभ माना जाता है. बृहस्पति देवों के गुरु हैं. यह देवताओं के लिए सभी अनुष्ठानों का संचालन करते हैं.

Also Read:-

27 Nakshatra by Names List | Characteristics | Hindi Meaning | Calculator

Pushya  Nakshatra in Hindi

पुष्य नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक काफी दयालु स्वभाव के होते हैं और और बहुत उदार ह्रदय के स्वामी होते हैं. इस नक्षत्र के स्वामी बृहस्पति हैं, जिसके कारण पुष्य नक्षत्र के जातकों का व्यक्तित्व गंभीर, समर्पित, इमानदारी से भरा होता है .

इस नक्षत्र के जातकों आपके पास एक मस्कुलर बॉडी होती है तथा चेहरा गोल और चमकदार होता है. Pushya  Nakshatra Characterstics in Hindi इन लोगों के पास अहंकार की थोड़ी सी भी मात्रा नहीं होती है.

पुष्य नक्षत्र के जातकों की विशेषता ये होती है कि वे जीवन में शांति, सुख और आनंद प्राप्त करना पुष्य नक्षत्र के जातकों का मुख्य उद्देश्य होता है. ये जातक समर्पित, भरोसेमंद, सामाजिक होते हैं और लोगों को उनके बुरे समय में मदद करते हैं. स्वादिष्ट भोजन इनको आसानी से लुभा सकता है और ये भौतिक जीवन को संजोना पसंद करते हैं. प्रशंसा इनको काफी खुश करती है, जबकि ये लोग अपनी आलोचना बर्दाश्त नहीं कर सकते.

इन जातकों से आपको कुछ कराने का एकमात्र तरीका मीठे शब्द बोलना ही है. आपको हर तरह की सुख-सुविधाएं इकट्ठी करना अच्छा लगता है. दृढ़ निश्चय के साथ आप ईश्वर के अस्तित्व में विश्वास रखते हैं. यदि इन खूबियों की वजह से Pushya Nakshatra born people  काफी लोकप्रिय होते हैं तो इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है.

Also Read:-

Ardra Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

पुष्य नक्षत्र में जन्मे लोग

इस नक्षत्र में जन्मे लोग योग, तंत्र-मंत्र, ज्योतिष आदि में भी आपकी गहरी रुचि रखते हैं . आप विशेष रूप से अपनी मां और उनके जैसी महिलाओं का सम्मान करते हैं. Pushya Nakshatra वाले लोगों की कार्यशैली काफी रचनात्मक होती है और इनमें जन्म से ही प्रतिभा कूट कूट कर भरी होती है. अगर Pushya Nakshatra born people को कोई काम दिया जाता है तो साफ तौर पर कहा जा सकता है कि काम जरूर होगा क्योंकि ये लोग हर काम को पूरी ईमानदारी और कुशलता से करते हैं.

काम की वजह से इनको कई बार अपने जीवनसाथी और बच्चों से दूर जाना पड़ सकता है. लेकिन, इससे परिवार से कोई अलगाव नहीं होगा. पुष्य नक्षत्र वाले जातक जीवन की विलासिता अर्जित करने के लिए हमेशा प्रयास करेंगे. इनके पास भक्ति की भावना के साथ-साथ एक शांतिपूर्ण और सभ्य व्यवहार है. लेकिन ये आसानी से दूसरों के दुर्व्यवहार का शिकार हो सकते हैं.

Also Read:-

A नाम वाले लोग – LOVE, SUCCESS, HEALTH, CAREER, NATURE

जैसा कि नाम से पता चलता है, यह तारा जातकों को शक्ति और ऊर्जा देगा. राशि चक्र के आठवें नक्षत्र, पुष्य या पुष्टि का संस्कृत में शाब्दिक अनुवाद “पोषक” के रूप में किया जाता है जो इस तारे के सार को व्यक्त करता है. प्रतीकात्मक रूप से, इस नक्षत्र को एक गाय के थन के रूप में दर्शाया गया है. हन्दू धर्म में गाय का थन भी पोषण का ही प्रतीक है तथा गाय का दूध अमृत रूप है जो पृथ्वी के लोगों का भरण पोषण करता है.

खासियत ये है कि इस नक्षत्र के जातक को कोई औपचारिक शिक्षा न मिलने पर भी ये लोग अपने करियर में उन्नति करते हैं.

Also Read:-

Mrigshirsha Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

Pushya  Nakshatra in Hindi- पुष्य नक्षत्र ज्योतिष

पुष्य नक्षत्र कर्क राशि में डिग्री 93:2 से 106:4 तक होता है और इसे महा नक्षत्र या अत्यधिक शुभ नक्षत्र के रूप में भी जाना जाता है. इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक सदैव देखभाल और दूसरों की सुरक्षा को लेकर उत्साहित रहते हैं.

hard to decide emotional man hellozindgi

पुष्य नक्षत्र मेंजन्मे पुरुषों की विशेषताएं- Pushya nakshatra Male Characteristics

पुष्य नक्षत्र में जन्मे पुरुष जातक भावनात्मक रूप से कमजोर होते हैं. उन्हें निर्णय लेने में कठिनाई होती है. इनका व्यवहार तो अच्छा होता है लेकिन ज़्यादातर इनके व्यवहार में स्वार्थ छिपा होता है. पुष्य नक्षत्र के पुरुष जातक स्पष्ट रूप से पाखंडी भी होते है क्योंकि वे अंदर से तो नकारात्मकता महसूस कर रहे होंगे लेकिन ऊपर से सकारात्मक होने का दिखावा करेंगे.

Pushya nakshatra Male Characteristics

पुष्य नक्षत्र के पुरुष जातक सभी से सम्मान की अपेक्षा करते हैं, लेकिन स्वयं किसी का सम्मान बिना वजह के नहीं करते. प्रशंसा से वे फूले न समाते हैं , जबकि आलोचना को वो बर्दाश्त नहीं कर सकते. Pushya nakshatra male में ये देखा गया है कि वे शायद ही कभी किसी के साथ मजबूती से जुड़े रह सकते हैं . पुष्य नक्षत्र में जन्मे पुरुषों के लिए बुरी संगति में पड़ना बहुत आसान होता है, इसलिए उन्हें अपने दोस्तों के चयन में दोहरी सावधानी बरतनी चाहिए.

पुष्य नक्षत्र वाले लोगों की शिक्षा एवं करियर का चुनाव

पुष्य नक्षत्र के पुरुष जातक किसी भी कार्य को करने के लिए सदैव आतुर रहते हैं भले ही वह उसे संभालने में सक्षम हो या नहीं. उनकी ये आदत उन्हें यह आमतौर पर विफलता और निराशा की ओर जाती है. अगर वे किसी कार्य को करें और एक पल के लिए रुक जायें तो उनके लिए कार्य की पुराणी स्पीड को पकड़ना मुश्किल हो जाता है. लेकिन फिर भी वो कार्य में दोबारा से लग ही जाते हैं. ऐसे में दुनिया की कोई ताकत उन्हें अपने चुने हुए क्षेत्र में महानता हासिल करने से नहीं रोक सकती. पुष्यनक्षत्र वाले मेल लोगों केपास एक मजबूत इच्छा-शक्ति भी होती है और अपने लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए कठिन बाधाओं को दूर करना उन्हें भली भांति आता है.

Also Read:-

Moola Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

पुष्य नक्षत्र पुरुष: इनका साथ एवं पारिवारिक जीवन- Pushya Nakshatra Family Life

यह देखा गया है कि पुष्य नक्षत्र के जातक को पारिवारिक जीवन में बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है और कई बार तो उन्हें दैनिक आजीविका के लिए भी दोस्तों और रिश्तेदारों पर निर्भर रहना पड़ता है. हालाँकि, क्योंकि उन्होंने बचपन में गरीबी देखी होती है, तो  बड़े होने पर उनमें Pushya Nakshatra Family Life अमीर बनने की एक दृढ़ इच्छाशक्ति विकसित होती है. काम के सिलसिले में उसे अपने परिवार से दूर रहना पड़ सकता है, हालाँकि उसे अपने जीवनसाथी और बच्चों से बहुत लगाव हो सकता है.

पुष्य नक्षत्र वाले पुरुषों का स्वास्थ्य-

पुष्य नक्षत्र के पुरुष जातक 15 वर्ष की आयु तक कई स्वास्थ्य समस्याओं से घिरे रहते हैं लेकिन उसके बाद वह अपेक्षाकृत  वे रोग मुक्त जीवन व्यतीत करते हैं.

पुष्य नक्षत्र महिला लक्षण- Pushya  nakshatra female characteristics

पुष्य नक्षत्र में जन्मी महिलाओं को कभी भी शांति का अनुभव होने की संभावना नहीं रहती है . यद्यपि वह एक बहुत ही आकर्षक, प्रिय चरित्र और शांत स्वभाव की होती हैं और बड़ों के प्रति बहुत विनम्र भी बनी रहतीहैं , लेकिन बदले में उसे केवल दुर्व्यवहार ही मिलता है. वह धार्मिक भी होती हैं और जिस परिवार में उसकी शादी हुई है, उसके सभी रीति-रिवाजों का पालन भी करती हैं लेकिन अशांति उनका पीछा नहीं छोडती है. Pushya  nakshatra female को चाहिए की वे किसी योग्य पंडित से संपर्क करें एवं उन्हें अपनी इस समस्या का समाधान अवश्य मिलेगा.

Also Read:-

1 तारीख को जन्मे लोग | LOVE, SUCCESS, HEALTH, CAREER, NATURE

पुष्य नक्षत्र नक्षत्र महिला: नौकरी एवं अन्य संबंधित क्षेत्र

पुष्य की में जन्मी महिला जातकों को को भूमि, भवन और संपत्ति से बहुत अधिक कमाई होने की संभावना होती है. यदि वह नौकरी करती है तो, तो उसे कंपनी में एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त किया जाने की काफी संभावना होती है.

पुष्य नक्षत्र वाली महिलाओं का स्वास्थ्य-

Pushya Nakshatra Ladies   के स्वस्थ्य के बारे में बात की जाये तो इनका 20 वर्ष की आयु तक स्वास्थय स्वास्थ्य बहुत अच्छा नहीं रहेगा. वे तपेदिक, पीलिया, त्वचा रोग और गैस्ट्रिक अल्सर जैसी कई बीमारियों से पीड़ित हो सकती हैं. बीस की उम्र के बाद काफी संभावनाएं हैं की इनको ऐसी किसी बड़ी समस्या का सामना नहीं करना पड़े.

पुष्य नक्षत्र स्त्रियों का पारिवारिक जीवन-

पुष्य नक्षत्र की महिला जातकों को अक्सर उसके पति द्वारा बेवफाई का संदेह होता रहता है . वह अपने पति और ससुराल वालों के सामने खुद को ईमानदारी से व्यक्त करने में असमर्थ रहती हैं और फिर गलतफहमियों का शिकार होती रहती हैं. Pushya Nakshatra Ladies को पहले अंदर से निःसंदेह होने की आवश्यकता होती है. और अन्दर के संदेह को मिटा दिया जाता है तो फिर उनको देखने को मिलेगा कि उनकी आंतरिक ख़ुशी बाहर भी दिखाई देने लगेगी.

पुष्य नक्षत्र शक्तियां- Pushya Nakshatra

पुष्य नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक आध्यात्मिक होने के साथ साथ रचनात्मकभी होते हैं. वे कड़ी मेहनत कर  सकते हैं तथा बुद्धिमान, सहज ज्ञान युक्त, समझदार होने के साथ काफी लोकप्रियभी होते हैं.  वे Pushya Nakshatra कठिन परिस्थितियों में दर्द को सहने की क्षमता भी रखते हैं . वे अपने विचारों में स्वतंत्र होते हैं  और दूसरों को अच्छी सलाह भी देते हैं. इनका आध्यात्मिक होना इनके लिए कई मुसीबतों से बहार आने का कारण बनता है .

Also Read:-

22 तारीख को जन्मे लोग. LOVE, SUCCESS, HEALTH, CAREER, NATURE

पुष्य नक्षत्र कमजोरियां

पुष्य नक्षत्र में जन्मे लोगों को जीवन के लिए एक संतुलित दृष्टिकोण की आवश्यकता होती है क्योंकि या तो वे चरम पर आराम की जिंदगी में विश्वास करते हैं या अत्यंत कठोर जीवन जीते हैं. पुष्य नक्षत्र के लोग अक्सर स्वार्थी होते हैं तथा हमेशा अत्यधिक बोलने में विश्वास रखते हैं. कट्टरपंथी, होने के साथ साथ जिद्दी, घमंडी, अत्यधिक संवेदनशील भी होते हैं तथा हमेशा चीज़ों को लेकर असुरक्षित महसूस करते हैं.

पुष्य नक्षत्र नाम

Pushya Nakshatra में जन्मे शिशुओं के लिए, निम्न अक्षरों से शुरू होने वाले नाम (names for Pushya nakshatra) सर्वश्रेष्ठ होते हैं-

हू, हे, हो, दा

पुष्य नक्षत्र के कुछ रोचक तथ्य

  • अनुवाद:  पौष्टिक प्रदान करने वाला
  • प्रतीक: गाय, तीर, फूल
  • स्वामी (Lord): चन्द्र
  • राशि: कर्क
  • देवता : शनि
  • प्रकृति: प्रकाश
  • देवता- हनुमान
  • गण: देव (भगवान की तरह)
  • शरीर वराहमिहिर: मुंह, चेहरा
  • शरीर पराशर: होंठ
  • संख्या- 8
  • नाम अक्षर : हू, हे, हो, दाह
  • भाग्यशाली अक्षर: H & D
  • भाग्यशाली रत्न : नीलम
  • भाग्यशाली रंग: लाल
  • भाग्यशाली अंक: 8
  • तत्व: जल
  • दोष: पित्त
  • पक्षी का नाम: समुद्री कौआ
  • योनी- अजा (बकरी)
  • वृक्ष- पीपल

पुष्य नक्षत्र का भाग्यशाली रत्न कौन से हैं?

नीलम

पुष्य नक्षत्र की भाग्यशाली संख्याएं कौन सी हैं?

2 और 8

पुष्य नक्षत्र के भाग्यशाली रंग कौन से हैं?

लाल और समुद्री नीला

पुष्य नक्षत्र के भाग्यशाली दिन कौन से हैं?

शनिवार, सोमवार और बुधवार

पुष्य नक्षत्र में जन्मे लोगों की राशी कौन सी होती है?

पुष्य नक्षत्र में जन्मे लोगों की  कर्क राशी होती है

Pushya Nakshatra Rashi

Cancer

Pushya Nakshatra Famous Personalities-

पुष्य नक्षत्र की विशेषताओं के आधार पर, इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले कई लोग अपने क्षेत्रों में विश्व प्रसिद्ध हुए हैं जैसे-

  • माधुरी दीक्षित (भारतीय बॉलीवुड अभिनेत्री )
  • नैन्सी रीगन
  • लता मंगेशकर
  • राज कपूर
  • विवियन रिचर्ड्स।
  • Madhuri Dixit ( the Indian bollywood personality)
  • Nancy Reagan
  • Lata Mangeshkar
  • Raj Kapoor
  • Vivian Richards.