माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के अचूक उपाय |मंत्र|विधि

STOTRA

लक्ष्मी को धन लक्ष्मी या सम्रद्धि की देवी भी कहा जाता है | घर में लक्ष्मी का आगमन किसे अच्छा नहीं लगता, हर व्यक्ति चाहता है कि लक्ष्मी उसके घर पधारें |
गरीब अमीर बनना चाहता है तो अमीर और अमीर बनना चाहता है | जिस पर भी माँ लक्ष्मी की कृपा बरस जाती है उसकी जिन्दगी संवर जाती है |उनके घर में सुख सम्रद्धि सदा वास करती है |उसे जीवन में कोई परेशानी नही होती |

वैसे तो माँ लक्ष्मी को खुश करने के काफी उपाय हैं जैसे माता महालक्ष्मी चालीसा को डेली पढना या फिर कलयुग में सबसे प्रभावशाली स्तोत्र जिसे कनकधारा स्तोत्र बोला जाता है उसका जाप भी अत्यधिक प्रभावशाली होता है
लेकिन जिस से माँ लक्ष्मी रूठ जाती हैं फिर उसे राजा से रंक बनने में देर नहीं लगती |अत: अपने जीवन से दुःख ,दरिद्रता, निराशा और अन्धकार को दूर करने के लिए माँ लक्ष्मी को प्रसन्न किया जाता है |
अत : हम यह पर माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के कुछ अचूक उपायों को बतायेंगे |

Also Read:-

Maa Laxmi Chalisa in Hindi – Benefits & Lyrics

माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के अचूक उपाय

diya hellozindgi

1. -शाम के समय पूजन स्थान पर इष्ट देव के सामने प्रकाश का उचित प्रबंध होना चाहिए, इसके लिए घी का दीया जलाना अत्यंत उत्तम है। शास्त्रों के अनुसार, इस समय घर में धन की देवी लक्ष्मी का प्रवेश होता है। यदि इस समय घर में अंधेरा होता है तो लक्ष्मी अपना मार्ग बदल लेती है और बाहर की नकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश कर जाती है। ऐसी अशुभ ऊर्जा को रोकने तथा घर में लक्ष्मी के वास के लिए गोधूलि बेला के समय घर में तथा पूजा स्थान पर उत्तम रोशनी होनी चाहिए।

2- माँ लक्ष्मी (Maa Lakshmi) के समक्ष मोगरे का इत्र अर्पित करना चाहिए और रति और कामसुख के लिए गुलाब का इत्र चढ़ाना चाहिए। इसी के साथ देवी लक्ष्मी के सामने केवड़े का इत्र अर्पित करने से मानसिक शांति की प्राप्ति होती है।

3- कहते हैं घर में स्वच्छता का जरुर ध्यान दे क्योंकि इससे माता लक्ष्मी  जरुर प्रसन्न होती है और साथ ही कभी शाम के समय घर  में झाडू न लगाए इससे घर की लक्ष्मी बाहर चली जाती है।

nariyal kalava mauli

4-शनिवार या चतुर्दशी को एक नारियल पर सिंदूर चढ़ाएं और कलावे से उसे लपेटकर हनुमान जी के मंदिर में चढ़ाएं। यह उपाय भी अत्यंत धनदायक है।

5- जिस घर में साफ़-सफाई रहती है वहां माँ लक्ष्मी का वास होता है।सुबह उठते ही सबसे पहले माँ लक्ष्मी का आह्वान करें और मुख्य द्वार पर हल्दी का पानी छिडके और अगर हल्दी का पानी नहीं है तो एक लोटा पानी अपने दरवाजे पर डाल दे।

Also Read:-

Ashta Laxmi Stotram Lyrics | Names | Mantra | Download pdf

6- शाम को सूर्यास्त के पश्चात घी में झाडू न लगाएं। रात में खाना खाने के बाद बर्तन जूठे न छोड़ें उन्हें उसी समय साफ करके रखें। ऐसा करने से लक्ष्मी घर में निवास करती हैं और दरिद्रता दूर होती है।

kaudi safed kaudiyan

7- लक्ष्मी पूजन करते समय 11 कौड़ियां गंगाजल से धोकर लक्ष्मी जी को चढ़ाएं और उन पर हल्दी कुमकुम लगाएं। अगले दिन इन्हें लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रख दें, इससे आय में वृद्धि होगी।

8- हल्दी से रंगे हुए कपड़े के एक टुकड़े में एक मुट्ठी नागकेसर, एक मुट्ठी गेहूं, हल्दी की एक गांठ, तांबे का एक सिक्का, एक मुट्ठी साबुत नमक और तांबे की छोटी सी चरण पादुकाएं बांधकर रसोई घर में टांग दें। यह एक चमत्कारी उपाय है। इससे मां लक्ष्मी जी के साथ मां अन्नपूर्णा की कृपा प्राह्रश्वत होती है तथा पारिवारिक कलह भी दूर होता है।

Also Read:-

Ma Durga- माता को प्रसन्न करने के मन्त्र | लक्ष्मी | सौभाग्य | मोक्ष

9- जरूरतमंदों, गरीबों, ब्राह्मïणों तथा संन्यासियों को भोजन वस्त्र और रुपए दान करें। अहंकार का त्याग करें। दान से धन की वृद्धि और शुद्धि होती है।

indian wealth 2000 note

10- माँ लक्ष्मी को खुश करने के लिए “ॐ श्रीं श्रीये नम:” मंत्र का जाप 108 बार करना चाहिए। इसे शुक्रवार से शुरू करें और 43 दिन तक इस मंत्र का जाप करना चाहिए। लक्ष्मी प्राप्ति के मंत्र का जाप पूरा हो जाए तो माँ लक्ष्मी को खीर का भोग लगायें और इसके बाद 7 साल की आयु से कम उम्र की बालिकाओं को श्रदापूर्वक भोजन कराना चाहिए । भोजन में खीर तथा मिश्री को जरुर शामिल करें। ऐसा करने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है और उसकी कृपा आप पर सदेव बनी रहती है।

11- जिसके घर में तुलसी का पौधा है उसे रोजाना तुलसी की पूजा करनी चाहिए और उसे जल चढ़ाना चाहिए।याद रखें शाम के समय कभी भी तुलसी को जल नहीं देना चाहिए और शाम के समय तुलसी की आरती करें।तुलसी माँ लक्ष्मी लक्ष्मी को बहुत प्रिय है और अगर आप उनके प्रिय का ध्यान रखते है तो माँ हमेशा पर मेहरबान रहेगी।

tulsi puja lady worshipping tulsi

12- उपासना के लिए स्फटिक या लाल चंदन की माला का प्रयोग करना चाहिए।

13- महालक्ष्मी के निम्न लघु मंत्रों का जाप करना चाहिए।
ॐ  महालक्ष्म्यै नम:।
ॐ  ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम:।
 ॐ  श्रीं ह्रीं क्लीं महालक्ष्म्यै नम:।

Also Read:-

फायदे जिन्हें जानकार हैरान हो जाएंगे आप

14- शुक्र ग्रह के दोष को दूर करने और लक्ष्मी माता को खुश करने का एक छोटा सा उपाय से आपकी सभी मनोकामनाये पूरी हो सकती है। पूरे मन से शुक्रवार को आपको एक छोटा सा उपवास करना चाहिए, इस दिन एक दक्षिणावर्ती शंख में जल भर करके भगवान विष्णु का अभिषेक लगातार तीन शुक्रवार करना चहिए, इससे माता लक्ष्मी की कृपा जरूर बरसेगी।        

15- हिन्दु शास्त्रों के अनुसार घर में सुख-शांति और समृद्धि के लिए कई तरह के शुभ चिन्ह बनाएं जाते हैं। शास्त्रों और वास्तु के अनुसार कई खास शुभ चिन्ह बताए गए हैं जो घर से सभी परेशानियों को दूर रखते हैं। इन्हीं निशानों में स्वस्तिक, ऊँ, ऊँ नम: शिवाय, श्री, श्रीगणेश आदि शामिल हैं।

Also Read:-

Kanakdhara Stotra in Hindi (Kanakdhara Stotram Lyrics,हिंदी अनुवाद)

16- लक्ष्मी, भगवान नारायण की पत्नी हैं और नारायण को अत्यंत प्रिय भी हैं। उनकी उत्पत्ति समुद्र मंथन से हुई है। शंख, मोती, सीप, कौड़ी भी समुद्र से प्राप्त होने के कारण नारायण को प्रिय हैं। अत: लक्ष्मी पूजन में समुद्र से प्राप्त वस्तुओं का उपयोग करें।

17- काली हल्दी की गांठ शुभ मुहूर्त में घर में लाकर कैश बॉक्स में रखना शुभ होता है।सफेद वस्तुओं का दान करें, इससे लक्ष्मी योग बनता है।

इन बातों का भी रखें ख्याल

  • जिस घर में पति-पत्नी में एक-दूसरे के प्रति प्रेम और सम्मान बना रहता है, जिस घर में कलह नहीं होता, उसमें लक्ष्मी का वास होता है।
  • जिस घर में  स्वच्छता रहती है और जो घर वास्तु दोष रहित होता है, वहां लक्ष्मी स्थिर रहती हैं।
  • जो लोग मेहनती, बुद्धिमान और साहसी (उद्यमी) होते हैं, लक्ष्मी उन पर सदैव प्रसन्न रहती हैं।
  • जो गृहिणी बार-बार भोजन करती है, भोजनindian notes indicating home पकाते समय भोजन में से ही खाने वाली तथा अशुद्ध परोसने वाली होती है, लक्ष्मी उनसे दूर चली जाती हैं।
  • जो आलसी होते है , दिन में सोने वाले, प्रात: या संध्या काल में संभोग करने वाले होते हैं उन लोगों से लक्ष्मी रूठ जाती हैं।
  • जो व्यक्ति दिन में उत्तर और रात्रि में दक्षिण की ओर मुंह करके मल-मूत्र का त्याग करता है, लक्ष्मी उस पर प्रसन्न रहती हैं।
  • जो व्यक्ति माता-पिता और गुरु का अनादर करता है, उससे भी लक्ष्मी अप्रसन्न रहती हैं।
  • जो व्यक्ति दूसरे की स्त्री और धन को हड़प लेता है, चोरी अथवा घूसखोरी करता है, उसे लक्ष्मी दोष लग जाता है। इस दोष के कारण कुछ साल बाद या अगले जन्म में व्यक्ति दरिद्र हो जाता है।
  • घर के मुख्य द्वार पर गणेश की प्रतिमा इस प्रकार लगाएं कि उसका मुंह घर के अंदर की तरफ हो। उस पर प्रतिदिन दूर्वा  अर्पित  करें।
  1. Sri Sankat Nashan Ganesh Stotra(Ganesh Stotram Lyrics)
  2. Bhaktamar Stotra in Sanskrit With Meaning (Jain Bhaktamar Stotra in Hindi)
  3. MARUTI STOTRA(MARUTI STOTRA LYRICS)
  4. Navgrah Shanti Mantra in Sanskrit
  5. शनि स्तोत्र (Shani Stotra in Sanskrit)
  6. Shiv Mahimna Stotram (शिव महिमा स्त्रोत)
  7. Shiv Panchakshar Stotra(शिव पंचाक्षर स्तोत्र)
  8. Aditya Hridaya Stotra in hindi(आदित्य हृदय स्तोत्र सम्पूर्ण पाठ)