Bajrang Baan in Hindi (सम्पूर्ण बजरंग बाण)- Benefits & Lyrics

WELLNESS FOREVER

Bajrang Baan (बजरंग बाण ) ke Bare mein- हनुमानजी (Hanuman Ji) को प्रसन्न करने के लिए अनेक मंत्रों, स्तुतियों और आरती आदि की रचना की गई है। उन्हीं में से एक है बजरंग बाण (Bajrang Baan)। बजरंग बाण/ Hanuman Baan का पाठ को विशेष रूप से मंगलवार के दिन ही पढ़ने की सलाह दी जाती है, जिसे हनुमान जी का प्रिय दिन माना जाता है। इस पाठ को किसी भी दिन पढ़ सकते हैं, मगर इसकी शुरुवात आप मंगलवार के दिन ही करें। We are providing hunman sankat mochan lyrics.

जय हनुमान Bajrang Baan lyrics in Hindi- सम्पूर्ण बजरंग बाण

दोहा

निश्चय प्रेम प्रतीत ते , बिनय करै सनमान |

तेहि के कारज सकल शुभ , सिद्ध करै हनुमान ||

चौपाई

जय हनुमंत संत हितकारी | सुन लीजै प्रभु अरज हमारी ||

जन के काज बिलम्ब न कीजै | आतुर दौरि महा सुख दीजै ||

जैसे कूदि सिंधु महिपारा | सुरसा बदन पैठी बिस्तारा ||

आगे जाय लंकनी रोका | मारेहु लात गई सुरलोका ||

जाय बिभीषण को सुख दीन्हा | सीता निरखि परमपद लीन्हा ||

बाग उजारि सिंधु महं बोरा | अति आतुर जमकातर तोरा ||

अक्षय कुमार को मारि संहारा | लूम लपेटि लंक को जारा ||

लाह समान लंक जरि गई | जय जय धुनि सुरपुर नभ भई ||

अब बिलम्ब केहि कारन स्वामी | कृपा करहु उर अन्तर्यामी ||

जय जय लखन प्रान के दाता | आतुर हो दुःख करहु निपाता ||

जय हनुमान जयति बल – सागर | सुर –समुह – समरथ भट –नागर ||

ॐ हनु हनु हनु हनुमंत हटीले | बैरिही मारू बज्र के कीले ||

ॐ ह्रीं ह्रीं ह्रीं हनुमंत कपीसा | ॐ हूँ हूँ हूँ हनु अरी उर सीसा ||

जय अंजनी कुमार बलवंता | शंकरसुवन बीर हनुमंता ||

बदन कराल काल – कुल – घालक | राम सहाय सदा प्रतिपालक ||

भूत , प्रेत , पिसाच निसाचर | अगिन बेताल काल मारीमर ||

इन्हें मारू , तोहि सपथ राम की | राखु नाथ मरजाद नाम की ||

सत्य होहु हरि सपथ पाई के | राम दूत धरु मारू धाई के ||

जय जय जय हनुमंत अगाधा | दुःख पावत जन केहि अपराधा ||

पूजा जप तप नेम अचारा | नहिं जानत कछु दास तुम्हारा ||

बन उपबन मग गिरि गृह माहीं | तुम्हरे बल हम डरपत नाहीं ||

जय जय जय धुनि होत अकासा | सुमिरत होय दुसह दुख नासा ||

चरन पकरि , कर जोरि मनावो | यहि ओसर अब केहि गोहरावो ||

उठु , उठु , चलु , तोहि राम दुहाई | पायं परो , कर जोरि मनाई ||

ॐ चं चं चं चपल चलंता | ॐ हनु हनु हनु हनु हनुमंता ||

ॐ हं हं हाँक देत कपि चंचल | ॐ सं सं सहमि पराने खल – दल ||

अपने जन को तुरत उबारो | सुमिरत होय आनंद हमारो ||

यह बजरंग – बाण जेहि मारै | ताहि कहो फिरि कवन उबारै ||

पाठ करै बजरंग – बाण की | हनुमत रक्षा करै प्रान की ||

यह बजरंग – बाण जो जापै | तासों भूत – प्रेत सब कापे ||

धूप देय जो जपै हमेसा | ताके तन नहि रहे कलेसा ||

दोहा

उर प्रतीत द्रण , सरन हं , पाठ करै धरि ध्यान |

बाधा सब हर , करै सब काम सफल हनुमान ||

Click here to Download Bajrang Baan pdf

HARIHARAN SHREE BAJRANG BAAN LYRICS

बजरंग बाण का पाठ रोज विधि-विधान से करना चाहिए। अगर ये संभव न हो तो सिर्फ मंगलवार (Tuesday) को भी बजरंग बाण(Bajrang Baan) का पाठ किया जा सकता है। बजरंग बाण(Bajrang Baan) का पाठ  karne se laabh.

Benefits of Bajrang Baan-

  1. जब भी आप बजरंग बाण पाठ करें तो शाम के वक़्त ही करें और इस दौरान आप इस बात का ध्यान रखें की सभी शब्द का सही-सही उच्चारण हो। अन्यथा गलत उच्चारण करने की वजह से पाठ का कोई लाभ नहीं होता।
  2. बजरंग बाण का पाठ आप अपने आस-पास मौजूद बजरंग बली के मंदिर या फिर अपने घर में स्थित पूजा घर में भी कर सकते हैं।
  3. बजरंग बाण पाठ करते समय इस बात का ध्यान रखें कि इस दौरान आप अपने पास एक दीपक अवश्य जला दें और पाठ खत्म होने तक वह दीपक प्रजाव्ल्लित होता रहे

Some Other Life-Changing Chalisa

CLICK BELOW