Swati nakshatra love health career success family life hellozindgi.com

Swati Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

Nakshatra
Table of Contents Hide Table

Swati Nakshatra Meaning in Hindi,

वैदिक ज्योतिष में 27 नक्षत्रों में से स्वाति नक्षत्र पन्द्रहवें नंबर पर आता है. स्वाति नक्षत्र के स्वामी ग्रह राहु है एवं नक्षत्र देवता पवनदेव हैं.  यहाँ हम मुख्य पौराणिक कथाओं के आधार पर स्वाति नक्षत्र में पैदा हुए  लोगों के जीवन के विषय में बात करेंगे .

इनके वारे में ऐसा कहा जाता है की ये बड़े से बड़े विवाद को भी अत्यंत शांतिपूर्ण ढंग से निपटा लेने की क्षमता रखते हैं.

Also Read:-

27 Nakshatra by Names List | Characteristics | Hindi Meaning | Calculator

पवन देव स्वाति नक्षत्र के देवता हैं. ये नक्षत्र तुला राशि में आता है, अतः जिन जातकों की राशि तुला होती उनका स्वाति नक्षत्र होने की पूरी पूरी संभावना होती है. इनके वारे में विशेष बात है कि ये विवादास्पद परिस्थितियों में भी अपना नियंत्रण नहीं खूटे तथा शांतिपूर्ण ढंग से किसी भी विवाद को समाप्त कर लेते हैं.

Swati Nakshatra in Hindi

वैदिक ज्योतिष के अनुसार स्वाति नक्षत्र का स्वामी ग्रह राहु है. यह तलवार या मूंगा जैसा दिखता है. इस नक्षत्र के हिंदू देवता तवष्टर या वाय हैं. इस तारे का लिंग महिला है. यदि आप का जन्म भी स्वाति नक्षत्र में हुआ है तो इससे संबंधित भविष्यवाणियां जैसे कि विशेषताएं, व्यक्तित्व और लक्षण, शिक्षा और आय, पारिवारिक जीवन, और बहुत कुछ हम इस लेख में प्रस्तुत करने जा रहे हैं.

शुद्धता या बारिश की सबसे शुद्ध पहली बूंद ही स्वाति नक्षत्र को सही ढंग से परिभाषित कर सकती है. जैसा कि नाम से पता चलता है, स्वाति नक्षत्र के जातक कार्य कुशल और प्रतिभा से प्रभावित होंगे तथा खुद भी प्रतिभा के धनी होते हैं . स्वाति नक्षत्र में जन्मे जातकों की मुख्या विशेषता ये होती है कि इनके पास उत्कृष्ट संचार कौशल होते हैं और ये अपने विचारों को स्वतंत्र रूप से व्यक्त करने का अतुलनीय गुण रखते हैं. साथ ही इनका सामाजिक शिष्टाचार में दृढ़ विश्वास होता है.

Also Read:-

Pushya Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

स्वाति नक्षत्र में जन्मे जातकों

स्वाति नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक आपके सकारात्मक दृष्टिकोण और आत्मविश्वास के बल पर बदलते समय में भी विचलित नहीं होते हैं.

ज्योतिष चार्ट में स्वाति नक्षत्र पूरी तरह से तुला राशि में निवास करता है . स्वाति का अनुवाद “स्वतंत्र”  के रूप में किया जाता है. इस नक्षत्र का प्रतीक हवा में उड़ने वाला एक युवा पौधा है, जो लचीलेपन और चंचलता के साथ-साथ बेचैनी का भी प्रतिनिधित्व करता है. हवा के देवता, सत्तारूढ़ देवता वायु, इस तारे को एक मजबूत, लेकिन कोमल स्वभाव प्रदान करते हैं.

राहु ग्रह स्वाति नक्षत्र का शासक होता है जो की छिपी क्षमता का प्रतीक है. स्वाति के तहत पैदा हुए लोग विनम्र होते हैं और अक्सर उन्हें इनकी महानता के विषय में याद दिलाना पड़ता है. जैसे की महाबली हनुमान जी को उनकी शक्तियों के विषय में याद दिलाना पड़ता था.

स्वाति नक्षत्र के जातकों में नई जानकारी प्राप्त करने की इक्षा हमेशा बही रहती है. स्वाति नक्षत्र के तहत पैदा हुए लोग राजनयिक होते हैं. ये लोग सामाजिक शिष्टाचार में दृढ़ विश्वास रखते हैं और समाज में फिट होने का हरसंभव प्रयास करते हैं . स्वाति का सार संतुलन है और इस तारे के तहत पैदा हुए लोग अपना समय अधिकतर अभिनय में लगाना पसंद करते हैं.

यदि स्वाति नक्षत्र में जन्मे लोगों के बारे में कुछ ही शब्दों में बताना हो तो वो शब्द होंगे “दृढ निश्चयी ”. इन लोगों की विशेषता होती है की ये लोग जो चाहते हैं उसे प्राप्त करने के लिए आपने आपको पूर्ण रूप से समर्पित कर देते हैं. इसलिए इन लोगों के लिए मकसद तय करना बेहद ज़ुरूरी होता है क्योंकि कहीं इनकी असीमित शक्ति कहीं ऐसे कार्य में न लग जाये जिसका कोई नतीजा ही ना निकले. सही दिशा निर्धारित करने के बाद आप बस अपनी सारी ऊर्जा उस कार्य में लगा दें.

Swati Nakshatra born people को हर समय काम करना अत्यंत पसंद होता है. ये लोग जीवन में अधिक सुख-सुविधाएं एकत्रित करने की प्रबल इच्छा रखते हैं और उत्सव, प्रेम तथा विलासिता को जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग मानते हैं.

Also Read:-

Magha Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

स्वाति नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक विनम्र, सामाजिक और हमेशा खुश रहने वाले होते हैं. इनकी वाणी मधुर होती है और ये कभी किसी से कड़वी बात नहीं करते. शिक्षा के लिहाज से इनकी स्थिति अच्छी होती है. गुरु के प्रभाव से बचपन से ही इनमें ज्ञान प्राप्त करने का उत्साह भरा होता है.

यदि शारीरिक मेहनत की बात की जाये तो ये उससे बचने की कोशिश करते हैंक्योंकि इनके पास दिमाग होता है और ये अपने दिमाग का बहुत उपयोग करते हैं. और जीवन में सफलता अपने दिमाग के बल पैर हांसिल करना चाहते हैं. यदि इनके सामाजिक दृष्टिकोण की बात की जाये तो इनका सामजिक दायरा काफी बड़ा होता है क्योंकि ये स्वभाव से काफी मिलनसार लोग होते हैं.

स्वाति नक्षत्र ज्योतिष

वृश्चिक राशि में स्वाति नक्षत्र 186:4 से 200:0 डिग्री के बीच रहता है. आपके पास हवा की तरह लचीलापन और चंचलता है. हालाँकि, स्वाति का अर्थ महान प्रेरक भी होता है, और इसलिए, स्वतंत्रता, करुणा, सहजता, पूर्ण स्वतंत्रता और आत्मविश्वास आप में स्वाभाविक रूप से होता ही है.

Also Read:-

Purva Phalguni Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

स्वाति नक्षत्र में जन्मे पुरुषों की विशेषताएं-  Swati nakshatra characteristics

स्वाति नक्षत्र में जन्मे पुरुष स्वभाव से शांत एवं  आत्मनिर्भर होते हैं . वे ना तो कभी किसी को उनकी संपत्ति को लेकर धोखा देगा और न ही ये चाहेगा कि कोई उन्हें धोखा दे. हालाँकि, Swati nakshatra male कड़ी मेहनत करते हैं, और उसके अपने अनुसार अपना जीवन बनाते हैं अर्थात वो दूसरों के आदेशों पे चलना पसंद नहीं करते. बावजूद इसके , अगर कोई उनके काम की आलोचना करता है, तो ये उनसे बर्दाश्त नहीं होता. यद्यपि स्वाति नक्षत्र में जन्मे पुरुष क्रोधी नहीं होते, लेकिन जब वे क्रोधित हो जाते हैं तो उन्हें नियंत्रित करना बहुत कठिन होता है.

HELPING THE NEEDY HELLOZINDGI.COM

स्वाति नक्षत्र में जन्मे पुरुषों की विशेषता होती है की वे जरूरतमंदों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं, लेकिन साथ ही उनसे ये उम्मीद न की जाये कि वे अपनी आजादी से समझौता करेंगे. इसका मतलब यह नहीं है कि वह अहंकारी है क्योंकि वह कभी भी सम्मान देने से नहीं हिचकिचाता है. इनके वारे में अक्सर ये भी यह देखा गया है कि ये जातक अपने बचपन की समस्याओं को अपने वयस्क जीवन में  अच्छी तरह से धो लेते हैं. मतलब वयस्क होने के बाद इनका जीवन काफी शानदार होता है.

स्वाति  नक्षत्र वाले पुरुषों की शिक्षा एवं करियर का चुनाव

स्वाति नक्षत्र का पुरुष जातक बुद्धिमान होते हैं तथा उनके कार्य करने की गुणवत्ता उत्कृष्ट होती है. भले ही वे एक संपन्न परिवार में पैदा हुए हों लेकिन 25 वर्ष की आयु तक, वे मानसिक और आर्थिक रूप से पीड़ित रह सकते हैं . 30 वर्ष की आयु तक उनके करियर में कोई खास प्रगति नहीं होगी, लेकिन 30 से 60 वर्ष की आयु तक यह जातक सुखी और समृद्ध रहेंगे .

Also Read:-

Ashlesha Nakshatra in Hindi | विशेषतायें | स्वामी | राशि | लव

स्वाति  नक्षत्र पुरुष: इनका साथ एवं पारिवारिक जीवन(Swati Nakshatra Family Life)

स्वाति नक्षत्र के पुरुष जातक को सुखी वैवाहिक जीवन का आनंद मुश्किल से ही मिल पाटा है. बाहरी लोगों को ऐसा लग लगता है कि वह और उसकी पत्नी एक दुसरे के लिए बहुत ही अनुकूल हैं, सच में ऐसा हो ये ज़ुरूरी नहीं है. ऐसा इसलिए है क्योंकि वे अपनी घरेलू समस्याओं को घर की चार दीवारों के भीतर रखते हैं.

स्वाति  नक्षत्र वाले पुरुषों का स्वास्थ्य- Swati Nakshatra Male Health

स्वाति नक्षत्र के पुरुष जातक का स्वास्थ्य उत्तम रहेगा. हालांकि, कभी-कभी उन्हें बवासीर या हड्डियों में दर्द हो सकता है. इसके साथ पेट की समस्याओं, और कुछ हृदय की समस्याओं सहित छोटी अवधि के लिए कुछ छोटी समस्याएं शामिल होंगी. कुल मिलाकर, उनका स्वास्थ्य उनके जीवन पथ में कभी भी गंभीर बाधा के रूप में प्रकट नहीं होगा.

स्वाति नक्षत्र महिला लक्षण- (Swati nakshatra female characteristics)

स्वाति नक्षत्र की महिला जातक दयालु होती हैं और इनको काफी मात्रा में समाज से सम्मान भी मिलता है. स्वाति नक्षत्र  में जन्म लेने वाली महिला जातक बहुत पवित्र और धार्मिक विचारों वाली होती हैं. Swati nakshatra female characteristics वे अपने परिवार के लिए आवश्यक सभी दैनिक धार्मिक अनुष्ठान करती एवं कराती हैं . उनका एक ख़ास गुण ये है की वे न केवल आसानी से नए दोस्त बना लेती हैं बल्कि काफी आसानी से अपने विरोधियों को भी शांत कर सकती हैं. वह ज्यादा यात्रा करना पसंद नहीं करतीं है और जितना हो सके घर पर रहना पसंद करती हैं.

स्वाति नक्षत्र महिला: नौकरी एवं अन्य संबंधित क्षेत्र

स्वाति नक्षत्र की महिला जातक अपने कार्य में इतना नाम और शोहरत कमाती हैं जिसकी पहले से कभी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी. हालाँकि उन्हें यात्रा करना ज्यादा पसंद नहीं होता है, लेकिन परिस्थितियाँ उसे ऐसा करने के लिए मजबूर करती हैं क्योंकि उसके काम में बहुत सारी यात्राएँ शामिल होती हैं.

स्वाति नक्षत्र महिला: अनुकूलता और पारिवारिक जीवन

स्वाति नक्षत्र में जन्म लेने वाली महिला जातक को पारिवारिक जीवन में कुछ बाध्यताओं के कारण अपने मूल्यों से समझौता करना पड़ता है. जिसके कारण वे परेशान हो सकती हैं लेकिन उसे अपने बच्चों से जितना प्यार और स्नेह मिलता है, वो प्यार उसके सारे दुःख दर्द की भरपाई कर देता है.

स्वाति नक्षत्र वाली महिलाओं का स्वास्थ्य-

Swati Nakshatra Ladies  स्वाति नक्षत्र की महिला जातक का स्वास्थ्य बाहर से भले ही अच्छा लगता हो, लेकिन अंदर से वह ज्यादातर हल्के अस्थमा, स्तन दर्द, गर्भाशय की समस्याओं और तनाव से पीड़ित होती हैं. हालांकि किसी अच्छे ज्योतिषी से बात कर के इन सभी समस्याओं का इलाज भी संभव है.

स्वाति नक्षत्र शक्तियां- (Swati Nakshatra)

स्वाति नक्षत्र वाले जातक नैतिक मूल्यों वाले तथा सदैव सत्य की तलाश करने वाले होते हैं. ये लोग विचारशील होते हैं और अपना ज्यादर समय कुछ सीखने में लगाते हैं. ये लोग स्वभाव से नम्र होते हैं तथा मानवीय मूल्यों का सम्मान करते हैं . धार्मिक होने के साथ साथ ये दूसरों की , देखभाल करना भी पसंद करते हैं. कार्य कुशल, बुद्धिमान एवं मित्रवत रहना इनकी आदत होती है . इनके जीवन में अनुशासन का अत्यधिक महत्व होता है. ये अधिकतर समय आशावादी बने रहते हैं और आसानी से हिम्मत नहीं हारते.  ये लोग सदैव स्वतंत्र रहना चाहते हैं स्वाति नक्षत्र में जन्मे जातक प्रेरक और आध्यात्मिक होते हैं.

स्वाति नक्षत्र कमजोरियां

स्वाति नक्षत्र वाले जातकों में जहां एक ओर इतनी खूबियाँ होती हैं वहीं कुछ कमजोरियां भी देखि गई हैं. स्वाति नक्षत्र वालों की एक कमजोरी ये है कि ये व्यर्थ खर्च करने वाले होते हैं एवं ज़्यादातर समय ये लक्ष्य बनाकर काम नहीं करते. दूसरी बात ये कि ये परिवार से ज्यादा ताल्लुक नहीं रखते साथ ही दूसरों के आलोचक भी होते हैं कई बार तो यहाँ तक देखा गया है की ये अपने अव्यवहारिक लक्ष्यों के कारण अलग थलग रहते हैं .

स्वाति नक्षत्र नाम

Swati Nakshatra में जन्मे शिशुओं के लिए, निम्न अक्षरों से शुरू होने वाले नाम (names for Swati nakshatra) सर्वश्रेष्ठ होते हैं-

रु, रू, रे, रो, त, ता

स्वाति नक्षत्र के कुछ रोचक तथ्य

  • स्वाति नक्षत्र अनुवाद: पुजारी, तलवार
  • स्वाति नक्षत्र प्रतीक: मूंगा, नीलम
  • स्वाति नक्षत्र स्वामी (Lord): राहु
  • स्वाति नक्षत्र राशि: तुला राशि
  • स्वाति नक्षत्र देवता : वायु-पवन देव
  • स्वाति नक्षत्र प्रकृति: चल या अल्पकालिक (चर)
  • स्वाति नक्षत्र गण: देव गण (भगवान के समान)
  • स्वाति नक्षत्र शरीर वराहमिहिर: दांत
  • स्वाति नक्षत्र शरीर पराशर: पेट
  • स्वाति नक्षत्र संख्या- 15
  • स्वाति नक्षत्र नाम अक्षर : रु, रे, रो, ता
  • स्वाति नक्षत्र  भाग्यशाली अक्षर: R & L
  • स्वाति नक्षत्र भाग्यशाली रत्न : गोमेद
  • स्वाति नक्षत्र भाग्यशाली रंग: काला
  • स्वाति नक्षत्र तत्व: आग
  • स्वाति नक्षत्र दोष: कफ:
  • स्वाति नक्षत्र पक्षी का नाम: मधु मक्खी
  • स्वाति नक्षत्र योनी- भैंसा
  • स्वाति नक्षत्र वृक्ष- अर्जुन वृक्ष (मत्ती)
  • भाग्यशाली अंक: 4

स्वाति नक्षत्र का भाग्यशाली रत्न कौन से हैं?

सीलोन गोमेद

स्वाति नक्षत्र की भाग्यशाली संख्याएं कौन सी हैं?

4 और 6

स्वाति नक्षत्र के भाग्यशाली रंग कौन से हैं?

काला

स्वाति नक्षत्र के भाग्यशाली दिन कौन से हैं?

शनिवार, सोमवार और मंगलवार

स्वाति नक्षत्र में जन्मे लोगों की राशी कौन सी होती है?

स्वाति नक्षत्र में जन्मे लोगों की तुला राशी होती है

Swati Nakshatra Rashi- Libra

स्वाति नक्षत्र में जन्में कुछ प्रसिद्ध हस्तियां

उपरोक्त लक्षणों के आधार पर हम देखेंगे की इस स्वाति नक्षत्र में जन्म लेने वाले कुछ लोग विश्व प्रसिद्ध हुए हैं  जिन में से कुछ हैं –

  • लिलियन बैटनकोर्ट (प्रसिद्ध फ्रांसीसी ओरियल ब्रांड मालिक)
  • किम कैंपबेल
  • शेख हसीना (बांग्लादेश पीएम)
  • लेडी गागा
  • स्मिता पाटिल (भारतीय फिल्म अभिनेत्री)

Swati Nakshatra Famous Personalities-

  • Lilliane Battencourt ( famous French L”Oreal brand Owner)
  • Kim Campbell
  • Shaikh Hasina ( Bangladesh PM)
  • Lady Gaga
  • Smitha Patil ( Indian film actress)