आपदा प्रबंधन पर निबंध आपदा प्रबंधन क्या है

आपदा प्रबंधन पर निबंध | Aapda Prabandhan Kya Hai

NIBANDH IN HINDI

आइये विस्तार से जानते हैं की आपदा प्रबंधन क्या होता है (Aapda Prabandhan Kya Hai)? और आपदा प्रबंधन का मतलब क्या होता है? आइए जानते हैं। आपदा प्रबंधन का मतलब जानने के लिए बने रहे हमारे साथ।

आपदा प्रबंधन क्या है – Aapda Prabandhan Kya Hai

आपदा प्रबंधन एक प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं के दौरान जीवन तथा संपत्ति की रक्षा करने एवं आपदा के प्रभाव को कम करने के लिए विशेष तैयारी की प्रक्रिया है. आपदा प्रबंधन सीधे खतरे को पूरी तरह से नष्ट नहीं करता है अपितु यह योजना बनाकर जोखिम को एकदम से कम करने में पूरी सहायता करता है.

Also read-चन्दन है इस देश की माटी Lyrics in Hindi | English

आपदा प्रबंधन सहायता कार्यक्रम

  • आपदा प्रबंधन सहायता कार्यक्रम के तहत देश में प्राकृतिक आपदाओं के कुशल प्रबंधन हेतु अपेक्षित आँकड़ों एवं सूचनाओं को उपलब्‍ध कराने के लिये इसरो द्वारा अंतरिक्ष में स्‍थापित आधारभूत संरचनाओं से प्राप्‍त सेवाओं का इष्‍टतम समायोजन भी किया जाता है।
  • भू-स्थिर उपग्रह (संचार व मौसम विज्ञान), निम्‍न पृथ्‍वी कक्षा के भू-प्रेक्षण उपग्रह, हवाई सर्वेक्षण प्रणाली तथा भू-आधारित मूल संरचनाएँ आपदा प्रबंधन प्रेक्षण प्रणाली के प्रमुख घटक बताये गये हैं। Aapda Prabandhan Kya Hai

Also Read- चन्दन है इस देश की माटी Lyrics in Hindi | English

प्रभाव

  • बता दें कि सबसे कम विकसित देशों पर इन आपदाओं का गहरा प्रभाव पड़ता है और ये वहाँ के जन-जीवन के लिये बहुत ही बड़ा खतरा बन सकती हैं, जबकि विकसित एवं मध्यम आयवर्ग वाले देशों में बुनियादी ढांचे पर इनका अधिक प्रभाव पड़ता है।
  • वैश्विक स्तर पर प्रतिवर्ष प्रदूषण से कम से कम 4.3 मिलियन लोगों की मृत्यु भी होती है, लेकिन इस पर कोई विशेष ध्यान बिल्कुल भी नहीं दिया जाता है.

दरअसल आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 में आपदा से तात्पर्य किसी क्षेत्र में हुए उस विध्वंस, अनिष्ट, विपत्ति या बेहद गंभीर घटना से है, जो प्राकृतिक या मानवजनित कारणों से या फिर दुर्घटनावश अथवा लापरवाही से घटित होती रहती है एवं जिसमें बहुत बड़ी मात्रा में मानव जीवन की हानि भी होती है। Aapda Prabandhan Kya Hai

Also Read-What Is Vitamin B12 In Hindi | Benefits | Deficiency | Normal

आपदा प्रबंधन मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं.

  • 1-पूर्व आपदा प्रबंधन:
  • 2-आपदाओं के दौरान प्रबंधन:
  • 3-आपदा पश्चात् प्रबंधन:

Also Read-Full-Form Of IRDP In Hindi |What IRDP Stands For

ध्यान देने वाली बात यह है कि एक आपदा प्रबंधन निरंतर छह तत्वों अर्थात रोकथाम, कमी, पूर्व आपदा चरण में तैयारी, एवं आपदा चरण में प्रतिक्रिया, पुनर्वास तथा पुनर्निर्माण, आपदा प्रबंधन के लिए पूर्ण दृष्टिकोण को परिभाषित करता है। राज्य आपदा प्रबंध योजना के कुशल निष्पादन के लिए, आपदा चक्र के इन चार चरणों के अनुसार योजना आयोजित भी की गई है।

प्राकृतिक आपदाओं के अतिरिक्त कुछ विपत्तियाँ मानवजनित भी होती हैं। जैसे- भूकम्प, सुनामी, भूस्खलन, ज्वालामुखी, सूखा, बाढ़, हिमखण्डों का पिघलना आदि हैं। बता दें कि धैर्य, विवेक, परस्पर सहयोग एवं प्रबंधन से ही इन आपदाओं से पार पाया जा सकता है। आपदा प्रबंधन कम से कम दो प्रकार से किया जाता है पहला आपदा से पूर्व एवं दूसरा आपदा के बाद.

Also Read-S नाम वाले लोग – LOVE, SUCCESS, HEALTH, CAREER, NATURE